Type Here to Get Search Results !

Shikshak भर्ती का संशोधित विज्ञापन अब मार्च में ही आने के आसार, जानिए कहाँ पर फंसा है पेंच

प्रयागराज : एडेड माध्यमिक कालेजों की Shikshak Bharti में तदर्थ Shikshakों का पेच फंसा है, इन Shikshakों को राहत देने का सुगम रास्ता निकालने की वजह से Bharti अटकी है। उधर, विपक्ष व खासकर Shikshak विधायक सरकार पर हमलावर हैं प्रयागराज में प्रतियोगी चयन बोर्ड पर सवाल उठा रहे हैं। इस संबंध में कई उच्च स्तरीय बैठकें भी हो चुकी हैं। उहापोह से इस माह Bharti का संशोधित विज्ञापन जारी होने के आसार नहीं है, बल्कि अब मार्च में Bharti प्रक्रिया आगे बढ़ सकती है।

माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड उत्तर प्रदेश ने अशासकीय सहायताप्राप्त (एडेड) माध्यमिक कालेजों के लिए चार साल बाद 29 अक्टूबर को 15508 पदों की Shikshak Bharti निकाली थी। एक माह के अंदर 18 नवंबर को घोषित विज्ञापन निरस्त कर दिया गया। वजह, पहली बार तदर्थ Shikshakों को भी सुप्रीम कोर्ट के आदेश से लिखित परीक्षा देनी है। विज्ञापन में उनका प्रति प्रश्न मूल्यांकन प्रतियोगियों की अपेक्षा कम रहा है। साथ ही प्रशिक्षित स्नातक Shikshak के विज्ञापन में जीव विज्ञान विषय का उल्लेख नहीं था, इसका Shikshak व प्रतियोगियों ने विरोध किया। दोनों ¨बदुओं में सुधार के लिए विज्ञापन निरस्त करके जल्द घोषित करने का ऐलान किया गया। अब तक तदर्थ Shikshakों का प्रकरण सुलझ नहीं सका है। इस समय सदन चल रहा है, विधान परिषद में विपक्ष और खासकर Shikshak विधायक तदर्थ Shikshakों के भविष्य का सवाल उठा रहे हैं। उनका तर्क है कि उच्च पदों पर तैनात अफसरों की यदि दोबारा लिखित परीक्षा करा ली जाए तो उनमें से चंद अफसर ही शायद उत्तीर्ण होंगे। ऐसे में तदर्थ Shikshak लिखित परीक्षा कैसे उत्तीर्ण हो सकेंगे।

सरकार की ओर से कहा गया कि इन Shikshakों पर वह बेहद गंभीर है लेकिन, शीर्ष कोर्ट का निर्देश ऐसा है कि लिखित परीक्षा को टाला नहीं जा सकता।

15, 508 पदों पर प्रस्तावित Bharti लिखित परीक्षा में शामिल होने वाले तदर्थ Shikshakों को लेकर लटका हुआ है अभी प्रकरण


प्रदर्शन करके चयन बोर्ड को कोस रहे
सरकार ने विधायकों से यह भी कहा कि शीर्ष कोर्ट का आदेश देख लें और ¨बदुवार सुझाव दें, यदि कोई रास्ता है तो सरकार उस पर विचार करेगी। सभापति का निर्देश हुआ कि विधायकों के साथ और बैठक करके रास्ता खोजा जाए। यह Bharti आगे न बढ़ने से प्रतियोगी नाराज हैं वे आंदोलन प्रदर्शन करके चयन बोर्ड को कोस रहे हैं। अब मार्च माह में संशोधित विज्ञापन जारी होने की उम्मीद है।
Primary ka master, primary ka master current news, primaryrimarykamaster, basic siksha news, basic shiksha news, upbasiceduparishad, uptet

Top Post Ad

Below Post Ad