Type Here to Get Search Results !

गोपनीय आख्या Ke संबंध Me शिक्षकों Me पनप रहा असंतोष, Junior हाईस्कूल शिक्षक संघ Ne CM को संबोधित ज्ञापन DM को सौंपा

0

 Primary ka master : बिंदुओं Ko लेकर असंतोष पनप रहा है। परिषदीय स्कूलों Ke शिक्षKoं का कहना है कि जो मानक शासन Ki ओर Se तय किए हैं, वे अव्यावहारिक हैं। इस पर पुनर्विचार करना चाहिए।




इस संबंध में  UttarPradesh जूनियर हाई स्कूल शिक्षक संघ ने मुख्यमंत्री Ko संबोधित नौ सूत्री ज्ञापन डीएम Ko सौंपा। जिलाध्यक्ष संजीव कुमार राय ने बताया कि महानिदेशक स्कूल शिक्षा Ki ओर Se जारी निर्देश में नौ मानक तय किए गए हैं। सब Se अधिक अव्यावहारिक मानक प्रधानाध्यापKoं Ke लिए बनाया गया है। इसमें ऑपरेशन कायाकल्प Ki अवस्थापना, सुविधाओं Ke लिए प्रधानाध्यापKoं Ko पूरी तरह Se जिम्मेदार ठहराया गया है।

इसKe लिए दस प्रतिशत अंक तय हैं जबकि यह कार्य ग्रामप्रधान, खंड विकास अधिकारी, ग्राम विकास अधिकारी Ke स्तर पर कराया जाना है। प्रधानाध्यापक का कार्य अधूरे कार्यों Ki सूचना देने तक सीमित है।

जिलामंत्री वाल्मीकि कुमार सिंह ने कहा कि इसी तरह छात्रों Ki उपस्थिति, दीक्षा पोर्टल का उपयोग, अभिभावKoं Ki बैठKoं में उपस्थिति आदि कार्यों Ke लिए भी शिक्षKoं Ko जिम्मेदार बनाया गया है। वास्तव में यह सभी चीजें अभिभावKoं Ki सामाजिक एवं आर्थिक परिस्थितियों पर भी निर्भर करती हैं।

प्रांतीय संयुक्त मंत्री अरविंद मित्तल ने कहा कि पुरानी पेंशन योजना बहाल किए जाने, कैशलेस चिकित्सा सुविधा, ग्रीष्मावकाश समाप्त कर उपार्जित अवकाश प्रदान किए जाने सहित नौ सूत्री मांगों Ke संबंध में ज्ञापन सौंपा गया है। इस दौरान जिला Koषाध्यक्ष शैलेश राय आदि मौजूद रहे।

Primary ka master, primary ka master current news, primaryrimarykamaster, basic siksha news, basic shiksha news, upbasiceduparishad, uptet

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां